कोराना संक्रमित होम कोरंटाईन की सुविधा प्राप्त करने वाले व्यक्ति से शासन द्वारा निर्गत मानक और निर्देशों का पूरा अनुपालन सुनिश्चित कराएं-डी.एम.

बिजनौर। जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने निर्देश दिए कि वर्तमान में संचारी रोग नियंत्रण से संबंधित जो भी दायित्व और कार्यक्रम जिन विभागीय अधिकारियों को सौंपे गए थे, उनका शत प्रतिशत पूरा करना सुनिश्चित करें और जिन विभागों द्वारा काग़जी कार्यवाही की जा रही है, वह आपत्तिजनक है, अतः सभी अधिकारी पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के आधार पर अपने दायित्वों का निर्वहन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान संचारी रोगों पर नियंत्रण रखना बहुत ज्यादा ज़रूरी है, यदि इस कार्य में लापरवाही बरती गई तो उसके बहुत ही भंयकर परिणाम सामने होंगे। उन्होंने सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्साधिकारियों को सचेत और जागरूक करते हुए कहा कि कोविड-19 तथा अन्य स्वास्थ्य संबंधी रिपोर्टस का प्रेषण उनके द्वारा सीधे शासन को किया जाएगा, अतः सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी अपने-अपने प्राथमिक एवं सामुदायिक केन्द्रों पर जरूरी इन्फ्रास्ट्रकचर एवं अन्य व्यवस्थाएं पूरी करना सुनिश्चित करें और केन्द्रों पर चौबीस घंटे किसी जिम्मेदार व्यक्ति की उपलब्धता की व्यवस्था करें ताकि वह फोन आदि पर सही और समुचित जानकारी उपलब्ध करा सके।
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय आज अपरान्ह 5 बजे विकास भवन के सभागार में आयोजित राष्ट्रीय वैक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत संचारी रोग नियंत्रण अभियान-द्वितीय चरण को सफलतापूर्वक संचालित करने के उद्देश्य से चतुर्थ अंतर्विभागीय समन्वय समीक्षात्मक बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दे रहे थे।
समीक्षा के दौरान संज्ञान में आया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग सहित कुछ विभागों द्वारा संचारी रोग नियंत्रण से संबंधित सही रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं की जा रही है तथा मानक से बहुत कम प्रगति की गई है, जिस पर उन्होंने आपत्ति व्यक्त करते हुए संबधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने दायित्वों का पूरी निष्ठा के साथ निर्वहन करते हुए सही रिपोर्ट प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों तथा डेंगू और मलेरिया बुखार पर प्रभावी नियंत्रण तथा इनका त्वरित एवं सही उपचार सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकताओं में शामिल है तथा इसके लिए अंतर्विभागीय सहयोग से संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस अभियान को पूर्ण मानक और निष्ठा के साथ संचालित करना सुनिश्चित करें ताकि अधिक से अधिक लोगों के जीवन की सुरक्षा की जा सके।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के साथ-साथ संचारी एवं वैक्टर रोगों पर नियंत्रण करना निश्चित रूप से कठिन कार्य है, लेकिन यह कार्य किया जाना है और गुणवत्ता के साथ सम्पन्न कराना है। हमारे लिए एक चुनौती के रूप में उभरे हैं। उन्होंने दृढ़ता के साथ कहा कि संचारी रोगों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए अंर्तविभागीय समन्वय के साथ कार्य योजना के अनुरूप आपसी सामंजस्य स्थापित कर परस्पर सहयोग करते हुए एक टीम के रूप में कार्य कर इस अभियान को शत प्रतिशत रूप से सफल बनाने का प्रयास किया जा रहा है ताकि जिले से संचारी रोगों जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि रोगों पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित हो सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि संचारी रोग उन्मूलन सहित शासन द्वारा संचालित सभी स्वास्थ्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों को संवेदनशीलता के साथ संचालित करना सुनिश्चित करें ताकि जन सामान्य भरपूर लाभ प्राप्त कर सकें। श्री रमाकांत पाण्डेय ने सभी अधिशासी अधिकारी नगर निकाय को निर्देश दिये कि वह रोस्टर बनाकर शहर के अन्दर साफ-सफाई व मच्छरों के मारने के लिऐ फाॅगिंग तथा एन्टीलार्वा का छिड़काव कराना सुनिश्चित करें तथा पेयजल की स्वच्छता के लिए निर्धारित मात्रा में क्लोरीन का समावेश कराएं।
श्री रमाकांत पाण्डेय ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित होम कोरंटाईन की सुविधा प्राप्त करने वाले व्यक्ति के शासन द्वारा जो मानक और निर्देश उपलब्ध कराए गए हैं, उनका पूरा पालन सुनिश्चित कराएं यदि मरीज द्वारा कोई लापरवाही बरती जाती है तो उसे तत्काल कोविड-लेवल 1 अस्पताल में भर्ती कराएं। उन्होंने बताया कि होम कोरंटाइन किए गए संक्रमित व्यक्ति के लिए बिल्कुल अलग आवास होना चाहिए तथा उसके पास एन्ड्राएड मोबाईल जिसमें आरोग्य सेतु तथा आरोग्य कवच ऐप अनिवार्य रूप से डाउनलोड होने चाहिए ताकि उससे किसी भी समय सम्पर्क स्थापित किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि जो व्यक्ति भी होम कोरंटाईन रह कर अपना इलाज कराना चाहता हो, उसे दवाईयों सहित सभी खर्च स्वयं वहन करने होंगे। उन्होंने सभी स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह अपनी सुरक्षा और स्वास्थ्य के प्रति पूरी तरह सजग रहते हुए अपने दायित्वों को अंजाम दें।
इस अवसर पर संचारी रोग एवं वैक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी ब्रज भूषण ने बैठक का संचालन करते हुए विस्तार से संचारी रोगों से बचाव एवं सुरक्षा के उपाय के साथ अभियान के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों एव प्रगति की जानकारी उपलब्ध कराई।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी कामता प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विजय कुमार यादव, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 एस0 के0 निगम, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारियों के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *