जल जीवन मिशन के तहत महिलाओं द्वारा की गयी गाँव में जल श्रोतों के गुणवत्ता की जांच।

जांच विधि पर ग्रामीणों से ली गयी फीडबैक व दी गई जानकारी।

पडरौना ( कुशीनगर)। जल जीवन मिशन के तहत जल गुणवत्ता जांच के लिए प्रशिक्षित की गई महिलाओं द्वारा गाँव में जल श्रोतों के गुणवत्ता जांच की स्थिति जांचने के लिए जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई कुशीनगर में क्षमतावर्धन एवं प्रशिक्षण समन्वयक बृहस्पति कुमार पाण्डेय प्रशिक्षणदाई संस्था साइबर एकेडमी लखनऊ के प्रभारी मुकेश रंजन मौर्य के साथ पडरौना ब्लाक के होरलापूर ग्राम पंचायत के कसिया गाँव में पहुचें। जहां टीम नें जल गुणवत्ता जांच के लिए प्रशिक्षित महिलाओं के साथ जल नमूना लिए गए परिवारों में जाकर लिए गए नमूने और जांच विधि पर ग्रामीणों से फीडबैक लिया। इस मौके पर ग्रामीणों नें बताया की गाँव के समूह की पांच महिलाओं द्वारा उनके घरों से जल के नमूनें लेकर उसकी जांच के उपरान्त उन्हें इसकी जानकारी दी गई है।

इस मौके पर क्षमतावर्धन एवं प्रशिक्षण समन्वयक बृहस्पति कुमार पाण्डेय नें ग्रामीणों को बताया की जल जीवन मिशन के तहत सभी को शुद्ध और गुणवत्तापूर्ण पानी मिलेगा। मुकेश रंजन मौर्य नें बताया की गाँव में जल श्रोतों से में पाए जाने वाले क्लोराइड, फ्लोराइड, नाइट्रेट, आर्सेनिक, पीएच, आयरन, हार्डनेस, अल्किनिटी, आदि की जांच की गई है।

इस मौके पर ग्राम प्रधान रामबृक्ष नें टीम को बताया की महिलाओं नें गाँव के सौ जल श्रोतों के जल गुणवत्ता का परिक्षण किया है। जिससे ग्रामीणों को गाँव के पीने के पानी के गुणवत्ता की स्थिति से अवगत कराया गया है।

इस मौके पर ग्राम प्रधान राम वृक्ष नें ग्राम पंचायत से प्रशिक्षित किये जाने वाले तेरह तकनीकी कार्मिकों की सूची टीम को सौपीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *