पी.आर.डी की जवान गीता ने बचाई एक मरीज की जान।

हरिद्वार से शैलेंद्र कुमार की रिपोर्ट।

हरिद्वार (उत्तराखंड)। जिला अस्पताल में भर्ती डेंगू से पीड़ित एक व्यक्ति की जान पीआरडी की जवान गीता राजपूत ने प्लेटलेट्स देकर बचाई। जान बचाने पर पीड़ित व्यक्ति के घर वालों ने पीआरडी की जवान गीता राजपूत का आभार व्यक्त किया। पीआरडी की जवान गीता राजपूत ने बताया कि जिला अस्पताल के डेंगू आइसोलेशन वार्ड में एक मरीज के सिर्फ 17 हजार प्लेटलेट्स रह गए थे। मरीज को ए पॉजिटिव प्लेटलेट्स की आवश्यकता थी, लेकिन प्लेटलेट्स नहीं मिल पा रहे थे। पीआरडी की जवान गीता राजपूत ने रक्तदान किया और फिर से प्लेटलेट्स अलग की गई। उन्होंने कहा कि शहर में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में शहर की जनता को स्वैच्छिक रक्तदान करने के लिए आगे आना चाहिए। उनका कहना है कि रक्तदान करके हम दूसरों की जान बचा सकते हैं। हर व्यक्ति को 3 महीने के अंदर रक्तदान अवश्य करना चाहिए। रक्तदान करने से किसी भी प्रकार की कोई कमजोरी नहीं आती बल्कि जितना हम ब्लड देते हैं कुछ दिनों में ही दिया हुआ ब्लड वापस हमारे शरीर में आ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *