नगर थानाध्यक्ष के नेतृत्व में योग विज्ञान शिविर का हुआ आयोजन, पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों ने किया योगाभ्यास।

बस्ती। पुलिस अधीक्षक बस्ती के आदेश के अनुपालन के क्रम में नगर थाने में योग विज्ञान शिविर का आयोजन थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार तिवारी के नेतृत्व में आयोजित किया गया। जिसमे योग प्रशिक्षकों ने पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों एवं जवानों के उत्तम स्वास्थ्य, रोग एवं तनावमुक्त जीवन के लिए प्राणायाम व योगाभ्यास का प्रशिक्षण दिया।

अनुलोम विलोम प्राणायाम कराते हुए गरुण ध्वज पाण्डेय योग शिक्षक प्रशिक्षक भारत स्वाभिमान समिति बस्ती ने बताया कि हर प्राणी के अन्दर एक डाॅक्टर बैठा हुआ है जो उसे स्वास्थ्य प्रदान करने हेतु निरन्तर प्रयत्नशील है। रोगाणुओं के हमले को कैसे रोका जाय? उन्हे कैसे पकड़ें? इन सारी व्यवस्थाओं का नियन्त्रण शरीर के अन्दर बैठा हुआ आपका अपना डाक्टर स्वयं करता है। इसी शक्ति को सेल्फ मानीटरिंग एण्ड ट्रीटमेण्ट सिस्टम कहते हैं। प्राणायाम से इस स्टिम को पूर्ण सक्रिय किया जा सकता है।

ज्ञात हो कि भारत स्वाभिमान एवं पतंजलि योग समिति बस्ती द्वारा चलाये जा रहे योग शिविर में बड़े उत्साह एवं जिज्ञासा से थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार तिवारी के साथ सहयोगी पुलिस कर्मी एवं समाज के लोगों ने भी योगासनों का अभ्यास किया। इस अवसर पर योग शिक्षक आदित्यनारायन गिरि द्वारा मोटापा, जोड़ो में दर्द, एवं उदर विकार हेतु पृथ्वी एवं वायु विकार मुद्रा की जानकारी दी गयी। इसके लिए आहार के विषय में बताते हुए कहा कि बहुत देर में पचने वाला, अधिक गर्म एवं ठण्डी तथा शरीर में गर्मी या सूखापन उन्पन्न करने वाले आहार योग साधक के लिए त्याज्य है। एक बार सात्विक भोजन लेने के तीन घण्टे के अन्दर दुबारा खाने की आदत छोड़ देनी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने मर्कटासन, अर्द्धहलासन, वज्रासन, वीरासन, सूर्य नमस्कार, पवनमुक्तासन, द्विचक्रिकासन और पादानुवृत्तासन का अभ्यास कराते हुए बताया कि साँसों के साथ योगाभ्यास करने से अपेक्षित लाभ मिलता है।

इस अवसर पर थानाध्यक्ष ने योग शिक्षकों आदित्यनारायन गिरि, गरुण ध्वज पाण्डेय व शिवश्याम का पुष्पगुच्छ व शाल देकर सम्मानित किया। योग शिक्षकों ने वैदिक साहित्य देकर थानाध्यक्ष व समाजसेवी विनोद कुमार शुक्ल का सम्मान किया। योगशिक्षकों कि आभार प्रकट करते हुए थानाध्यक्ष ने कहा कि योग हमारे क्रियाकौशल में वृद्धि करता है। इसे दिनचर्या में शामिल करके हम पूरा दिन ऊर्जावान व तनावमुक्त होकर कार्य कर सकते हैं। यह क्रम चलता रहेगा और समय समय पर योग शिक्षकों की भी सेवा ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *