मुख्यमंत्री ने माघ मेले के कार्यों को 20 दिसम्बर तक अनिवार्य रूप से पूर्ण किए जाने के दिए निर्देश।

•मुख्यमंत्री ने माघ मेले में भूमि आवंटन एवं साधु-महात्माओं एवं कल्पवासियों को मिलने वाली सुविधाओं में किसी भी प्रकार की शिकायत न होने देने के दिए निर्देश।

प्रयागराज से पवन रस्तोगी की रिपोर्ट।

प्रयागराज। मुख्यमंत्री ने बैठक में माघ मेला-2023 की तैयारियों के बारे में भी समीक्षा करते हुए सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को 20 दिसम्बर तक अनिवार्य रूप से सभी कार्यों को पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि माघ मेला के आयोजन में किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि माघ मेला महाकुम्भ-2025 के लिए रिहर्सल के रूप में होगा।

उन्होंने कहा कि मेला में भूमि आवंटन, साधु-महात्मओं एवं कल्पवासियों को दी जाने वाली सुविधाओं में किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं आनी चाहिए। उन्होंने कहा है कि यदि कहीं से भी शिकायत पायी गयी तो सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

उन्होंने माघ मेले को शीर्ष प्राथमिकता पर स्वच्छ बनाये रखने के लिए कहा है। साथ ही साथ उन्होंने मेला क्षेत्र में सरकार की योजनाओं का भी व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने सुरक्षा की उच्च कोटि की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के साथ-साथ सभी कार्मिंको का अच्छे से प्रशिक्षण कराये जाने के लिए कहा है। कहा कि मेले में ड्यूटी करने वाले सभी लोग अच्छा व्यवहार करें और अच्छी छवि का निर्माण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *