धर्मेन्द्र को मिला महाकवि भिखारी ठाकुर सम्मान।

बस्ती। संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से ग्रामीण महिला एवं कल्याण समिति बस्ती की ओर से रविवार को कटरा स्थित श्री मैरेज हाल में अवधी भोजपुरी लोकोत्सव एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में दशरथ गद्दी के महन्थ बृजमोहन दास जी महाराज मौजूद रहे।
अतिथियों ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर व दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्य अतिथि बृजमोहन दास जी महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति स्वाभिमान की परिचायक है। हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है। संस्कृति को बचाए रखने के लिए ऐसे आयोजनों की विशेष आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति श्रेष्ठतम संस्कृति है। इसे बचाने और जन जन तक पहुंचाने के लिए सभी को साझा दायित्व निभाना पड़ेगा।
विशिष्ठ अतिथि युवा उपन्यासकार धर्मेन्द्र कुमार पाण्डेय ने कहा कि अवधी, ब्रज व भोजपुरी बोलियां हमारी संस्कृति का अंग हैं। उपन्यासकार धर्मेन्द्र कुमार पाण्डेय के जन्म दिन के अवसर पर इन्हें भोजपूरी के प्रख्यात लेखक व महाकवि भिखारी ठाकुर सम्मान से अलंकृत किया गया। गोरखपुर से भोजपुरी के वरिष्ठ कवि पुरषोत्तम मौर्य ने कहा की युवा साहित्यकार स्वप्निल जिस तरह से साहित्य के लिए कार्य कर रहे हैं आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा।
संस्था सचिव बबिता गौतम ने धर्मेन्द्र के लेखन की तारीफ करते हुये कहा कि जिस उम्र में युवा तमाम उलझनों में फंसा हुआ है ऐसे में धर्मेन्द्र द्वारा सृजन की जाने वाली रचनाएं एवं उम्दा साहित्य समाज को नई दिशा देगा। कार्यक्रम में बृहस्पति पाण्डेय, फिल्म डारेक्टर संजय श्रीवास्तव, फिल्म एक्टर राघव पाण्डेय, फिल्म एक्टर कृष्ना, एल के तिवारी, विशाल पाण्डेय, डॉ नवीन सिंह, राम मूर्ति मिश्रा, अहमद अली, राजेंद्र सिंह, डा श्याम नारायण चौधरी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *