बजट में व्यापारियों को क्रेडिट कार्ड तथा पीएफ की व्यवस्था करने की मांग।

अभिनव अग्रवाल की रिपोर्ट।

मथुरा। व्यापारिक संगठन भारतीय उद्योग व्यापार मंडल रजिस्टर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व वित्त राज्य मंत्री रविकांत गर्ग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को देश के करोड़ों व्यापारियों उद्यमियों की ओर से पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने आगामी केंद्रीय बजट में आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने के लिए उद्यमी, व्यापारी हितों के संवर्धन के लिए महत्वपूर्ण सुझाव प्रेषित किए हैं। जिसके तहत उन्होंने बजट में व्यापारियों को क्रेडिट कार्ड तथा पीएफ की व्यवस्था करने की मांग की है।

शनिवार को भेजे गए पत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि लघु, कुटीर उद्यमियों एवं व्यापारियों को किसान क्रेडिट कार्ड की भांति व्यापारी क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराए जाएं। साथ ही कर्मचारी भविष्य निधि की भांति व्यापारी भविष्य निधि की व्यवस्था सुनिश्चित करने एवं जीएसटी के तहत पंजीकृत प्रत्येक व्यापारी को उत्तर प्रदेश सरकार की भांति दस लाख रुपए का दुर्घटना बीमा दीया जाए। कोरोना जैसी महामारी को भी आपदा दुर्घटना में शामिल करने, आयकर में रियायत प्रदान करते हुए आयकर की छूट सीमा को कम से कम चार लाख रुपए तथा वरिष्ठ नागरिकों को पांख लाख रुपये तक की छूट देने की मांग की है। व्यापारियों की समस्याओं के हल के लिए केंद्रीय एवं प्रदेश स्तर पर व्यापारी कल्याण आयोग के गठन तथा बोर्ड के स्थान पर आयोग गठन के कार्य को शीघ्रता से पूर्ण किए जाने की मांग की है। केंद्र सरकार द्वारा घोषित नीति एमएसएमई की सभी सुविधाएं व्यापारियों को भी उपलब्ध कराए जाने के निर्णय को सख्ती से लागू कराया जाने की मांग की है। भारतीय उद्योग व्यापार मंडल ने स्वाबलंबी एवं आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में अपनी सकारात्मक भूमिका दिए जाने का उल्लेख करते हुए भारत सरकार को विश्वास दिलाया है कि प्रधानमंत्री के हर कदम में देश के 10 करोड़ से अधिक उद्यमी एवं व्यापारी साथ हैं।