युवा समाजसेवी अभिनव ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा एवं अन्य अधिकारियों को लिखा पत्र।

नजीबाबाद। शिक्षा सत्र 2020-21 मे अध्ययनरत स्नातक व परास्नातक के छात्र-छात्राओं के भविष्य एवं जिंदगी को देखते हुए नगर के युवा समाजसेवी अभिनव अग्रवाल एडवोकेट ने एक प्रार्थना पत्र डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, बिजनौर के प्रभारी मंत्री कपिल देव अग्रवाल एवं एम०जे०पी०आर०यू०के कुलसचिव को रजिस्ट्री डाक द्वारा भेजा है। तथा जिलाधिकारी बिजनौर को प्रार्थना पत्र मेल किया है। प्रार्थना पत्र में युवा समाजसेवी अभिनव अग्रवाल एडवोकेट ने बताया कि हमारे देश में कोरोना महामारी फैली हुई है। ऐसे में स्नातक व परास्नातक में अध्यनरत छात्र-छात्राओं का बिना वैक्सीनेशन कराएं परीक्षा कराना न्याय उचित नहीं होगा। परीक्षा से पहले स्नातक के सभी छात्र – छात्राओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जाना अति आवश्यक है। सरकार द्वारा जो नया पैटर्न से परीक्षा की जानी तय की गई है उससे छात्र छात्राओं को काफी नुकसान है इसलिए परीक्षाएं पुराने पैटर्न पर होनी चाहिए। पहले एक विषय की तीन परीक्षाएं होती थी परंतु अब नए पैटर्न में एक विषय की एक ही परीक्षा करायी जाएगी। (उदाहरण के लिए जैसा कि गणित विषय की तीन अलग-अलग पुस्तकें होती है और उनकी तीन अलग-अलग दिन परीक्षा होती थी।) छात्र-छात्राएं आसानी से अपने पाठ्यक्रम की तैयारी कर लेते थे। लेकिन अब तीनों पाठ्यक्रम की एक साथ तैयारी करनी पड़ रही है। जिस कारण स्नातक के छात्र – छात्राओं को परीक्षा की तैयारी करना संभव नहीं है । इसलिए परीक्षा पुराने पैटर्न पर होनी चाहिए। जिस विषय की जितनी परीक्षा होती थी उतनी ही होनी चाहिए। बताते चले की स्नातक के छात्र छात्राओं ने अभिनव अग्रवाल एडवोकेट के नेतृत्व में इस संबंध में मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन नजीबाबाद के प्रशासनिक अधिकारी को दिया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *