प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान कल।

=सभी केन्द्रों पर पीएम मातृत्व सुरक्षित अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं की होगी जांच।

= प्रथम बार मां बनने वाली लाभार्थी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर योजना के लाभ लेने हेतु संपर्क करें।

अलीगढ़ से सौरभ पाठक की रिपोर्ट।

अलीगढ़। जिले में अब हर गर्भवती को प्रसव से पहले जांच सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का आयोजन शासन के निर्देशानुसार के अनुसार अब 9 तारीख की जगह शुक्रवार (10 सितंबर) को किया जाएगा। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। इसमें ज्यादा से ज्यादा गर्भवती महिलाओं को चिकित्सा इकाई पर लाने हेतु ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर द्वारा आशाओं को प्रेरित किया जाएगा और प्रत्येक गर्भवती महिला के सम्पूर्ण एएनसी चेकअप कराना सुनिश्चित करेंगे।

परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस के अवसर पर गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड से लेकर यूरिन, हीमोग्लोविन, शुगर, सिफलिस, वजन, ब्लड प्रेशर एवं ब्लड ग्रुप और कोविड -19 की जाँच की जाएगी। इसमें उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं का भी चिन्हांकन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी गर्भवती माताओं को स्वल्प, अल्पाहार व बैठने की व्यवस्था अच्छी कराना सुनिश्चित की जाए और सभी सामुदायिक/प्राथमिक व नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्राइवेट अस्पतालों के (गायनोलॉजिस्ट) एमबीबीएस चिकित्सकों द्वारा उनका सहयोग ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी अस्पतालों में अपना सहयोग प्रदान करें। जिससेे कि प्रत्येक गर्भवती महिला के संपूर्ण एनसी चेकअप कराना सुनिश्चित करें। जिससे कि एचआरपीडी को मुक्त दिवस के रूप में आयोजन किया जा सके।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (आरसीएच) डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि इस माह 10 तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान का आयोजन अस्पताल में कराया जा रहा है। गर्भवती की जांच में एचआईवी पॉजिटिव, हाईपर टेंशन, प्रसव जटिलता, गंभीर रूप से एनिमिक और पहले सीजर वाली गर्भवती की पहचान कर उनके सुरक्षित प्रसव का प्रबंधन किया जाता है।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य जच्चा-बच्चा को सुरक्षित रखना तथा मातृ और शिशु मृत्यु दर को न्यूनतम स्तर पर लाना है। बता दें कि विभिन्न पैथालॉजी जांच के साथ ही अल्ट्रासाउंड की सुविधा सरकारी अस्पतालों पर नि:शुल्क है। जबकि प्राइवेट सेंटरों पर मरीजों को छह सौ रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

जिला कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर कमलेश चौरसिया द्वारा अवगत कराया गया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) के तहत 10 तारीख को जिले में देहात क्षेत्र के सभी चिकित्सा स्वास्थ्य इकाइयों पर नि:शुल्क प्रसव पूर्व जांच होगी।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का लाभ लेने के लिए प्रथम बार मां बनने वाली लाभार्थी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर योजना के लाभ लेने हेतु संपर्क एवं जानकारी प्राप्त कर आवेदन सकती हैं। एचआरपी डे का सफल संचालन वीएचएनडी में एचआरपी वाली महिलाओं का चिंहिकरण करके ही अच्छे तरीके से इस अभियान को सफल किया जा सकता है। इस कार्यक्रम में हाई रिस्क प्रेग्नेंसी (एचआरपी) महिलाएं चिह्नित भी की जाएंगी।

अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर अकबर खान ने बताया कि शहरी क्षेत्र के सभी नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर (गायनोलॉजिस्ट) एमबीबीएस चिकित्सकों द्वारा जांच की जाएगी। इसमें गर्भवती की दूसरी व तीसरी जांच भी कराई जाएगी। चिह्नित एचआरपी महिलाओं का सुरक्षित प्रसव विभाग की देख-रेख में कराया जाएगा। इसमें गर्भवती अपना पंजीकरण करा सकती हैं।

इन केंद्रों पर नि:शुल्क अल्ट्रासाउंड:स्वास्थ्य विभाग ने ब्लॉक क्षेत्र की गर्भवतियों की नि:शुल्क जांच के लिए अल्ट्रासाउंड सेंटर को संबद्ध किया है। अल्ट्रासाउंड कराते समय गर्भवती को इन केंद्रों पर किसी भी प्रकार के पैसे नहीं देने हैं। जबकि ब्लॉक अतरौली व छर्रा एवं मोहनलाल गौतम राजकीय महिला चिकित्सालय व पंडित दीनदयाल उपाध्याय जिला संयुक्त चिकित्सालय में भी अल्ट्रासाउंड करा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *