इस पूर्व मंत्री की अग्रिम जमानत पर आज होगा फैसला; अपहरण केस में घोषित हैं भगोड़ा।

Vijaydoot News

बस्ती। बहुचर्चित राहुल मद्देशिया अपहरण केस में कोर्ट से भगोड़ा घोषित पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के अग्रिम जमानत के मामले में गुरुवार को सुनवाई होगी। फास्ट ट्रैक कोर्ट प्रथम / एमपी एमएलए कोर्ट के न्यायाधीश प्रमोद कुमार गिरि की अदालत ने अपहरण कांड में अमरमणि त्रिपाठी के अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए फैसला सुरक्षित कर लिया है। 11 जुलाई को अग्रिम जमानत पर निर्णय की तिथि नियत किया है।

गौरतलब है कि कोतवाली बस्ती थाने में राहुल मद्धेशिया के अपहरण के मुकदमे में आरोपित अमरमणि त्रिपाठी का नाम 2001 में प्रकाश में आया था। इसी केस वह सुनवाई के दौरान वांछित चल रहे हैं। अमरमणि त्रिपाठी के वकील की ओर से अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र तीन जुलाई 2024 को दाखिल किया गया है।

अग्रिम जमानत के प्रार्थना पत्र में लिखा गया है कि उन्हें महज परेशान करने के लिए फंसाया गया है। वह एफआईआर में नामजद अभियुक्त नहीं है विवेचना में अन्य के साथ सहअभियुक्त में नाम बढ़ा दिया गया है इस मामले में 19 दिसम्बर 2001 को लखनऊ में गिरफ्तारी हुई ट्रांजिट डिमांड पर बस्ती न्यायालय में21 दिसम्बर 2001 को पेश किया गया था। एक फरवरी 2002 को जमानत पर रिहा होने का आदेश हुआ था।

दूसरे केस में लगातार 20 वर्षों के ऊपर कारागार में निरुद्ध थे इस समय भी बीमारी चल रही है डा के निगरानी में है। मुकदमे के बादी मुकदमा की मृत्यु हो चुकी है राहुल ने स्वयं सुलहनामा दाखिल किया है कि अपहरण में अमरमणि की कोई भूमिका नहीं है प्रार्थी के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट न्यायालय द्वारा जारी है। गिरफ्तार होने की संभावना है। इसलिए अग्रिम जमानत पर रिहा करने की कोर्ट से अपील की गई है।