जिला चिकित्सालय के सभागार में राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की हुई समीक्षा बैठक।

अलीगढ़ से सौरभ पाठक की रिपोर्ट

अलीगढ़। जनपद में मलखान सिंह जिला चिकित्सालय अस्पताल के सभागार में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ आनंद उपाध्याय द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा बैठक की गई। जिसके अंतर्गत उपस्थित सभी एसटीएस, एसटीएलएस एवं टीबीएचवी को निर्देशित किया कि आगामी एक हफ्ते के अंदर अपने समस्त नौ इंडिकेटर को शत प्रतिशत पूर्ण करके जनपद को उच्च श्रेणी रैंकिंग वाले जनपद में शामिल कराना उनकी प्राथमिकता है। इसके लिए सर्वप्रथम प्रत्येक टीबी मरीज को निक्षय पोषण योजना के तहत ₹500 प्रतिमाह इलाज के दौरान समय से दिलाना सुनिश्चित करें। जिससे कि उन पैसे का मरीज अपने लिए पोषण हेतु समय उपयोग कर सके।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आनंद उपाध्याय ने बताया जिले में ऐसे तीन पद हैं एसटीएस, एसटीएलएस एवं टीबीएचवी के जिनको निर्देशित किया गया कि फील्ड में जाने से पहले भ्रमण पंजीकरण करके भ्रमण किया जाए और सीएमओ द्वारा टीबी केन्द्र के स्टोर पर निरीक्षण किया गया और उन्होंने सभी को आग्रह किया कि साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। इसके अलावा प्रत्येक नए मरीज की जियो टैगिंग के जरिया लोकेशन निश्चय ऐप में शत प्रतिशत दर्ज करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए एवं बताया कि माननीय प्रधानमंत्री द्वारा 2025 से देश को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य दिया गया है। उसी के तहत उसी दिशा में काम करने के लिए हमें सबसे पहले त्वरित रूप से कार्य करना पड़ेगा तभी जनपद अलीगढ़ 2025 तक टीबी मुक्त होगा। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ अनुपम भास्कर ने बताया गया कि अब एनयूएचएम के तहत उपस्थित अधिकांश शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बलगम जांच का कार्य 1 सप्ताह में शुरू कर दिया जाएगा जिससे शहरी क्षेत्र में रहने वाले लोग बलगम जांच के लिए निकटतम शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बलगम की जांच करा सकें एवं क्षय रोग विभाग द्वारा दी जा रही सुविधाओं का लाभ उठा सकें।

जिला कार्यक्रम समन्वयक सत्येंद्र कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम जनपद की प्रगति रिपोर्ट के बारे में बताया और सभी एसटीएस, एसटीएलएस एवं टीबीएचवी को डीटीओ द्वारा निर्देशित किया गया कि समस्त टीबी मरीजों को कोविड की वैक्सीन लगाई जाएं जिससे की कोविड-19 का खतरा कम हो सके।समीक्षा बैठक में समस्त जिला पीपीएम कोऑर्डिनेटर एवं समस्त जिला टीबी एंड एचआईवी कोऑर्डिनेटर, एवं जिला शहरों केंद्र का स्टाफ उपस्थित रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *